Dant dard ka ilaj - दांत दर्द का इलाज

Dant dard ka ilaj - दांत दर्द का इलाज 



दांत दर्द की समस्या आम हो गयी है।  किसी को भी दांत का दर्द हो सकता है।  दांत का दर्द हर उम्र में परेशान करता है।  दांत का दर्द कई कारणों से हो सकता है।  किसी को ठंडा या गरम पानी से तो किसी को इन्फेक्शन की वजह से। वैसे तो अगर  दांत में दर्द होतो आपको तुरंत ही डॉक्टर से मिलकर उसका इलाज करना चाहिए . फिर भी अगर आप ऐसी सिचुएशन में हैं की आप  मिल पा रहे तो हम आपको dant ka dard dur karne ka ilaj बता रहे हैं। 


दांत दर्द की दवाएं  - Dant Dard Ki Dava

dant-dard-ka-ilaj-hindi


Acetaminophen ya Paracetamol aur Ibuprofen ये दवा आसानी  से किसी भी मेडिकल स्टोर पर मिल जाती है।  दवा से दांत  के दर्द में आपको जल्द ही आराम मिल जाता है।  फिर भी इन दवाइयों का ओवरडोज़ न हो इसके लिए आपको डॉक्टर से पूछ लेना ज्यादा  बेहतर होगा। अगर आप प्रेगनेंट हैं तो बिना डॉक्टर के सलाह के कोई भी दवा न खाएं।  


ठंडा दबाव Cold Compression 

दांतों पर ठंडा दबाव देने से भी दांतो के दर्द में आराम मिलता है।  आप कुछ बर्फ के टुकड़ो को एक साफ़ कपडे में लपेट कर जिस तरफ दर्द हो  उधर दबा कर रखे।  ऐसा करने से भी दांत के दर्द में  आराम मिलता है।  दिन में इसे 3 से  4  बार किया जा सकता है।  रात में सोने से पहले भी कर लेने से आपको रात में होने वाले दांत के  दर्द से आराम मिलेगा।  

सिर को ऊँचा रखें 

कई बार इंफ्लमैशन के वजह से दांत के Pulp Chamber का प्रेशर बढ़ जाता है।  इस दबाव के  वजह से भी दांत में दर्द होता है।  इन दर्द को Pulpitis कहते हैं। सोते समय अगर थोड़ी ऊँची तकिया का इस्तेमाल करे तो भी दांत  में दबाव कम होगा और दर्द में आराम मिलेगा। 

मेडिसिनल मलहम का इस्तेमाल 

कई बार लोग दर्द निजात पाने के लिए कुछ मलहम का भी प्रयोग करते हैं। बेंजोकेन एक टोपिकल अनेस्थेटिक  होता है जिसके इस्तेमाल दर्द होने वाली जगह सुन्न हो जाती है और दर्द में आराम मिल जाता है। 

नमक पानी से कुल्ला 

नमक पानी से कुल्ला दांत में होने वाले दर्द के लिए सबसे आम घरेलु इलाज है। नमक पानी एन्टिमिक्रोबिअल की तरह काम करता है।  जो मुँह में मौजूद माइक्रोब्स को ख़त्म करता है।  नमक पानी से कुल्ला करने में मसूड़ों की सूजन भी  कम होती है।  इसके अलावा कुल्ला करने से दांत में फंसे खाद्य पदार्थ भी बहार निकल जाते है।  जिससे दांत सड़ने से भी बचे रहते हैं। 

पुदीने की चाय 

dant-dard-ka-ilaj-hindi


पुदीना आपको आराम से किसी भी सब्जी की दुकान में मिल जायेगा। अगरआप गाँव में रहते हैं तो यह आपके आसपास मिल जायेगा। पुदीने की चाय पीने से से भी दांत दर्द में आराम मिलता है। दांतो के बीच पुदीने का रस भी लगाया जा सकता है। पुदीने के रस में मेंथोल नाम का एक तत्व पाया जाता है।   रिसर्च में यह पाया गया है की पुदीने  रस में एंटीबैक्टीरियल और एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं।  मेंथोल की की वजह से दांत कम हो जाता है। 

लौंग 

dant-dard-ka-ilaj-hindi


लौंग का इस्तेमाल भी दांत दर्द में बहुत ही कारगर है। लौंग में मौजूद एक तत्व जिसका नाम यूजीनोल (Eugenol) है।  यह दांत दर्द को रोकता है। कई लोग इसको पीसकर जहा दर्द होता है वहां लगाते हैं। बाजार में आपको लौंग का तेल आसानी से मिल जायेगा।  लौंग के तेल को साफ़ रुई में भिगोकर निचोड़ लें।  फिर दर्द वाले हिस्से में रखकर दबा लें।  जल्द ही दर्द से छुटकारा मिल जायेगा। 

लहसुन 

dant-dard-ka-ilaj-hindi


लहसुन में मौजूद तत्व एलिसिन एक एंटी-बैक्टीरियल का काम करता है।  आप चाहे तो कच्चा लहसुन चबा सकते हैं. लेकिन कुछ लोग इसके स्वाद की वजह से इसको कच्चा खाना पसंद नहीं करते। आप चाहें तो लहसुन की एक काली तोड़ कर उससे दर्द वाले दांत में दबा लें।  जल्द ही आराम मिलेगा। 

नीबू का उपयोग 

नीबू में एस्कॉर्बिक एसिड यानि विटामिन सी की प्रचुर मात्रा होती है।  मसूड़ों के इन्फेक्शन में विटामिन सी बहुत ही लाभदायक होता है। अगर आपको मसूड़ों का इन्फेक्शन हो या मसूड़ों से खून आता होतो आपको नीबू का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए। दांतो के दर्द में नीबू पानी से कुल्ला करके भी दर्द में आराम पाया जा सकता है।  

ऊपर दिए हुए घरेलु नुस्के आपके दांत के  दर्द को कम कर सकते है।  परन्तु एक प्रोफेशनल एडवाइस के लिए आप डेंटिस्ट से मिल कर अपने दांत का चेक-अप  करवाएं। दांतो के दर्द को इग्नोर करना ठीक नहीं होता।  इसके लिए अच्छा है की अपने डॉक्टर से जल्दी ही सलाह ले लें।  
और नया पुराने