दांतों का दर्द दूर करने के घरेलू उपचार | Daant ka dard kaise thik kare ?

 दांतों का दर्द दूर करने के घरेलू उपचार व  दांत में दर्द होने का प्रमुख कारण (Teeth pain or Toothache home Remedies, reason in hindi) 

tooth pain

Daant ka dard किसी भी इंसान को हो सकती है और इसलिए इनका सही से ख्याल रखना काफी जरूरी होता है, ताकि इनसे जुड़ी परेशानियों से बचा जा सके और इन्हें सेहतमंद रखा जा सके. वहीं काफी लोगों को इनमें दर्द की समस्या रहती है और वो इस दर्द से काफी परेशान भी रहते हैं. Daant ka dard kaise thik kare इसके लिए हम आपको कुछ घरेलु टिप्स देते हैं 

दांतों का दर्द दो प्रकार का होता है  (Two Types Of Tooth Pain) –

दांतों का दर्द दो तरह का होता है जिनमें से एक तीव्र दांत दर्द (Sharp tooth pain) होता है और दूसरा सुस्त दांत दर्द (Dull tooth pain) होता है. तीव्र प्रकार का दर्द अक्सर हल्का होता है और एकदम से निकलता है. साथ में ही ये दर्द तब होता है, जब आप कुछ खा रहे होते हैं या फिर कुछ बोल रहे होते हैं. वहीं सुस्त प्रकार का दर्द थोड़ा घातक होता है और ये दर्द गर्म प्रकार का खाना खाने से या कोई गर्म चीज पीने से होता है. इस प्रकार का दर्द धीरे धीरे शुरू होता है और लंबे समय तक रहता है.


दांतों में दर्द होने के कारण (Reason of Teeth Pain) –

  • कैविटी (कीड़े लगने के कारण) – कैविटी होने से दांतों पर बुरा प्रभाव पड़ता है और इसके कारण इनमें दर्द भी होने लगता है. इसलिए कैविटी होने पर तुरंत डॉक्टर से इसका इलाज करवाने की सलाह दी जाती है, ताकि वक्त रहते ही इसको सही किया जा सकें और दांतों के दर्द को होने से रोका जा सके. अगर सही समय पर दांतों को डॉक्टर को लिया जाये तो दांत में फिलिंग करके दांत को निकालने बचाया जा सकता है. 
  • जड़ों का कमजोर होना –  बहुत लोग अपने दांतों को समय पर साफ़ नहीं करते हैं जिसकी वजह से दांतों पर प्लाक जमा हो जाता है. धीरे धीरे यह प्लाक कठोर हो जाता है और कैलकुलस का रूप ले लेता है. जो हमारे दांतों को मसूडो को दूर करने लगता है और हमारी दोंतो कि जड़े  कमजोर हो जाती है. 
  • सही से देखभाल नहीं करना- जो लोग अपने दांतों का सही से ध्यान नहीं रखते हैं उनको भी इनमें दर्द होने की परेशानी हो जाती है. इसलिए इनका ध्यान रखना काफी आवश्यक होता है. इसके अलावा दांतों में साइनस का इन्फेक्शन होने पर भी इनमें दर्द होने की संभावना रहती हैं. दांतों का इन्फेक्शन अगर लम्बे समय तक रहता है तो यह दांतों के भीतर मवाद बनाने लगता है जिससे काफी दर्द होता है. 
  • दांतों का टूटना- दांत जब थोड़ा थोड़ा टूटने लगते हैं, तो इनमें दर्द होने लगता है  और दांत या इनकी जड़ों में फ्रैक्चर होने से भी इनमें दर्द होने लगता है. दांत आपस में घिसने कि वजह से धीरे धीरे पतले होते जाते हैं जिसकी वजह से भी दर्द का अनुभव किया जा सकता है. 

दांतों का दर्द भगाने के घरेलू उपचार (Home Remedy For Teeth Pain) –

  • लौंग का तेल (Clove Oil) – लौंग का तेल दांतों के दर्द को भगाने में प्रभावी होता है और इसलिए हर कोई दांतों में दर्द होने की समस्या पर इस तेल का इस्तेमाल करने की सलाह देता है. आपको ये तेल बाजार से आसानी से मिल जाएगा और आपको इस तेल की कुछ बूंदें रुई में डालकर, रुई को दर्द वाली जगह पर कुछ देर तक रखना होगा. और ऐसा करते ही कुछ समय बाद आपका ये दर्द सही हो जाएगा. 
  • अदरक और लाल मिर्च (Ginger-Cayenne Paste) – अदरक और लाल मिर्च का मिश्रण बनाकर अगर दांतों पर लगाया जाए, तो इस दर्द से राहत मिल सकती है. अदरक और लाल मिर्च का मिश्रण बनाने के लिए आप इन दोनों चीजों को एक ही मात्रा में ले लें और उसमें पानी मिला दे. फिर रुई की मदद से इस मिश्रण को दांतों पर लगा लें और कुछ देर तक लगे रहने दें.

लाल मिर्च के अंदर कैपस्केनी नाम रासायनिक घटक पाया जाता है जो कि दर्द को खत्म करता है. वहीं आप चाहें तो इन दोनों चीजों को अलग-अलग भी लगा सकते हैं.    


  • हाइड्रोजन पराक्साइड (Hydrogen Peroxide) – दांतों में दर्द होने पर आप हाइड्रोजन पराक्साइड का इस्तेमाल भी इस दर्द को भगाने के लिए कर सकते हैं. आपको बस तीन प्रतिशत हाइड्रोजन पराक्साइड को अपने मुंह में कुछ देर के लिए रखना होगा. थोड़ी देर बाद इसे मुंह से निकाल दे और साफ पानी से कुल्ला कर लें.
  • बर्फ – बर्फ की मदद से भी इस दर्द से निजात पाई जा सकती हैं. आपको बस एक बर्फ प्लास्टिक के थैले में डालनी होगा और इस थैले को किसी साफ कपड़े के अंदर लपेट कर अपने दांतों पर रखना होगा. कोशिश करें की आप इसे 15 मिनट तक अपने दांतों पर रख सकें. वहीं अगर आप बर्फ को दर्द वाले दांत पर नहीं रखना चाहते हैं, तो आप इसे अपने गालों के उस हिस्से पर रख दें, जिसके नीचे आपका वो दांत जिसमें दर्द हो रहा है.

इसके अलावा आप अपनी अंगूठे और तर्जनी अंगुली के बीच में बर्फ को रगड़ कर भी इस दर्द से राहत पा सकते हैं. कहा जाता है कि हथेली में बर्फ रगड़ने से उंगलियों की नसें दिमाग में ठंडा संकेत भेजती हैं जिसके चलते दिमाग तक आपके दांत के दर्द के संकेत नहीं पहुंच पाते हैं.

  • लहसुन – लहसुन का प्रयोग भी कई लोगों द्वारा इस पीड़ा को भगाने के लिए किया जाता है. इसलिए अगर आपके दांत में दर्द है तो आप लहसुन को चबा लें क्योंकि इसके अंदर एलिसिन (allicin) होता है जो कि प्राकृतिक जीवाणुरोधी एजेंट है और ये दर्द को खत्म कर देता है.
  • प्याज- प्याज के अंदर रोगाणुरोधी गुण होते हैं जो कि मुंह में मौजूदा जीवाणु को खत्म करता है और दांतों के दर्द से भी राहत देता है. इसलिए जिन लोगों को इनमें दर्द की परेशानी रहती है वो कच्चे प्याज का सेवन कर इस दर्द को खत्म कर सकते हैं. प्याज के कई तरह के फायदे होते है.
  • हल्दी का पाउडर– अपने दर्द से राहत पाने के लिए आपको बस हल्दी का पेस्ट तैयार करके, अपने दांतों पर लगाना होगा. इस पेस्ट को तैयार करने के लिए आपको लाभकारी हल्दी के पाउडर में पानी या फिर शहद को मिलाना होगा, फिर इस पेस्ट को रुई की सहायता से उस दांत पर लगा लें जिसमें आपको दर्द हो रहा है.
  • नमकीन पानी – नमकीन पानी से कुल्ला करने से भी इस दर्द से आराम पाया जा सकता है, इसलिए आप खाना खाने के बाद इस पानी से कुल्ला जरूर करें, ताकि मुंह में मौजूदा जीवाणु खत्म हो सके और आपको दांतों के दर्द से निजात मिल सके.
  • पुदीने की चाय (Peppermint Tea) – पुदीने की चाय भी इस दर्द को सही करने में फायदेमंद सिद्ध होती है और इसको पीने से इस दर्द से छुटकारा पा सकते हैं. इसे बनाने के लिए आपको बस पुदीने की कुछ सूखी हुई पत्तियां लेनी होंगी और उनको गर्म पानी में 20 मिनट का उबालना होगा.

20 मिनट तक इसे उबालने के बाद गैस बंद करके इस पानी को ठंडा कर लें. वहीं जब पुदीने का पानी ठंडा हो जाए, तो आप इस पानी का एक घुट ले लें और कुछ देर तक इसके पानी को मुंह में ही रखें. कुछ समय बाद आप इस पानी को मुंह से निकाल दें या फिर इस पानी को पी लें. कुछ दिनों तक ये प्रक्रिया करने से आपका दर्द ठीक हो जाएगा.


  • वेनीला सत्र (Vanilla extract) –  वेनीला सत्र को दांतों पर लगाकर इस दर्द को गायब किया जा सकता है. आपको बस कुछ बूंदें वेनीला सत्र की अपने दांतों पर रुई की मदद से लगानी होगी और कुछ समय तक रूई को उस दांत पर रखना होगा जिसमें दर्द हो रहा है. दरअसल वेनीला सत्र में अल्कोहल होता है जो कि दर्द को कम करने का काम करती है.


इन चीजों का रखें ध्यान (Precaution) –


दांतों में दर्द होने पर अक्सर लोग दिन में अधिक बार ब्रश करने लगते हैं, जो कि गलत होता है, क्योंकि अधिक ब्रश करने से इनपर बुरा प्रभाव पड़ता है और साथ में ही इनमें होने वाला दर्द और बढ़ जाता है.

कैविटी होने पर आप तुंरत डॉक्टर से इसका इलाज करवा लें, क्योंकि अधिकतर बार कैविटी के कारण ही इनमें दर्द होता है. वहीं अगर वक्त रहते कैविटी को सही नहीं करवाया जाता है, तो दांत निकालने की नौबत भी आ जाती है.

मीठी चीज का सेवन अधिक करने से भी दांतों को नुकसान पहुंचता है और इनमें दर्द भी होने लगाता है. इसलिए ज्यादा मीठी चीज का सेवन करने से आप बचें और इसमें दर्द होने के दौरान मीठा बिल्कुल ना खाएं. सोडा भी दांतों के लिए हानिकारक होता है, इसलिए आप उन चीजों का सेवन भी ना करें, जिनमें सोडा होता है.


दांतो की देखभाल से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी


समय समय पर अपने दांतों की जांच अगर डॉक्टर से करवाई जाए, तो इनको सेहतमंद रखा जा सकता है और इनमें दर्द होने की समस्या को भी रोका जा सकता है. दिन में दो बार ब्रश करने से ये साफ रहते हैं और इनमें दर्द की समस्या भी नहीं होती है..

दांतों को साफ करने के लिए केवल अच्छे ब्रश का ही प्रयोग करें, क्योंकि घटिया ब्रश से दांतों को साफ करने से इनको नुकसान पहुंचता हैं. साथ में ही इनको साफ करने वाले धागे का प्रयोग भी जरूर करना चाहिए, क्योंकि इसकी मदद से दांतों से पट्टिका (plaque) अच्छे से निकल जाता हैं.

ऊपर बताए गए उपचारों का इस्तेमाल करने के बाद भी अगर आपके दांत का दर्द ठीक नहीं होता है, तो आप डॉक्टर से अपने दांतों की जांच जरूर करवाएं, क्योंकि दांतों का दर्द किसी खतरनाक बीमारी का संकेत भी हो सकता है.

أحدث أقدم